Success Stories2 Comments

TSSE (Teaching Staff Selection Exam) Success Story

हेलो फ्रेंड्स!!!!
नाम: आलोक उपाध्याय
मेरी शिक्षा: B.Tech.(IT) 2013 Passout with just 68.67
प्लेस: जयपुर( राजस्थान)
सफलता= “सपने+ समर्पण”

मित्रों मेरा नाम आलोक उपाध्याय मैंने TSSE की परीक्षा उत्तीर्ण कर आज में टीचर के पद पर कार्य कर रहा हूं| और दोस्तों मुझे आज मेरी सक्सेस स्टोरी सुनाने में अत्यंत ही हर्ष का अनुभव हो रहा है मुझे बहुत खुशी हो रही है कि मैं आप सभी को| अपने जीवन वृतांतों को बता सकूं कि किस तरह मैंने 4 सालों में अपनी पूरी लगन मेहनत और समर्पण के साथ इस उचाई को छुआ है| मैं आज बहुत ही गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं अपने आप को क्योंकि मैं आप सभी को मेरे जीवन का एक अमूल्य खजाना देने वाला हूं|
तो दोस्तों मेरी कहानी इस तरह स्टार्ट होती है मेरा जन्म एक दलित परिवार में हुआ हमारे समाज में आज भी दलितों को बहुत नीचे का दर्जा दिया जाता है| दोस्तों मुझे इस मुकाम तक पहुंचने के लिए इस समाज से लड़ना पड़ा मैंने काफी संघर्ष किया दोस्तों मैंने अपनी स्नातक की परीक्षा पूर्ण करने के बाद कंपटीशन फील्ड में जाना उचित समझा| तो मैंने इस क्षेत्र में कदम रख दिया कदम रखने के बाद मेरी बहुत सारे दोस्तों से फ्रेंडशिप हुई परंतु जैसे ही वह मेरे बारे में जानते और मुझसे दोस्ती तोड़ देते थे मैं काफी निराश हो जाया करता था इस समाज में काफी कुरीतियां फैली हुई है| हमारे समाज को सुधरने की बहुत ज्यादा जरूरत है दोस्तों| इससे मेरा आत्मविश्वास काफी नीचे गिर जाया करता था परंतु मैंने कभी हार नहीं मानी और मैं लड़ता रहा| मैंने 4 सालों तक कंपटीशन एग्जाम की तैयारी की और इसी बीच मैंने हमारे समाज की कई बातों को सुना और उसका जहर पिया मेरी जगह दे कोई होता तो वह आत्महत्या कर लेता परंतु मैंने ऐसा नहीं किया मैं लड़ता रहा और 4 सालों बाद मेरी मुलाकात सफलता से होगी जिस दिन मेरी मुलाकात सफलता से हुई जो लोग मुझसे बात करने में अपना समझते थे वहां लोग मुझसे बात करने लगे यकीन मानिए दोस्तों धीरे-धीरे सब कुछ बदल गया| अब दोस्तों मैं आपको यह बताता हूं कि मैंने किस तरह से इस परीक्षा की तैयारी की सबसे पहले तो मैंने टाइम टेबल बनाया टाइम टेबल के मुताबिक दिल्ली पढ़ाई करता| और रविवार के दिन जितना पढ़ लिया उसका पूरा रिवीजन करता| ऐसा मैं लगातार करता गया| जिस जगह मुझे कुछ समझ नहीं आता मैं YouTube की मदद ले लेता था| बस दोस्तों यही मेरी सक्सेस का राज है

आप सभी मित्रों को मेरी तरफ से बहुत-बहुत धन्यवाद और मैं आप सभी को शुभकामनाएं देता हूं कि आप भी भविष्य में बहुत बड़े पद पर आसीन हो मेरी शुभकामनाएं सदा आपके साथ रहेंगी|

“इंसान को कठिनाइयों की आवश्यकता होती है, क्योंकि सफलता का आनंद उठाने कि लिए ये ज़रूरी हैं।”

2 Comments on this article

Add a comment